The best flowers and plants for indoor and outdoor

सबसे अच्छे फूल एवं पौधे इंडोर और आउटडोर के लिए

बागवानी करना मजेदार है।  यह एक शांत और आराम कार्य है , एवं  यह एक महान शौक के रूप में भी जाना जाता है।  हालांकि, यह कभी -कभी बहुत मेहनत भरा हो सकता है। जब तक आप जूनून और पेशे से माली नहीं है , किसी पौधे  के सूखे  पत्ते  निकलना और नए बीज रोपना और उन्हें धैर्येपूर्वक का समय और धेर्ये नहीं है। और हर चार महीने में एक ही प्रकिर्या दोहराने की इक्छा नहीं है।

क्या होगा अगर हम बगीचे की गुणवत्ता  से समझौता किये बिना बागवानी प्रकिर्या को और भी  अधिक मज़ेदार बना सकते है , और फिर से बीज रोपने की प्रकिर्या से खुद को बचा सकते है ? यहाँ कुछ फूल एवं पौधो की जानकारी दी जाएगी , जो साल भर हरे एवं भरे रहेंगे, जिन्हे  आप आसानी से सालभर अपने बगीचे में लगा सकते है।

गुलाब – Rose

गुलाब क्या है ? यह जानने के लिए आपको प्लांट लवर होने की आवश्यक्ता नहीं है।  गुलाब के पौधे की 300 से अधिक प्रजाति पायी जाती है,पौधे समूह बनाते है और समूह से झाड़िया प्राप्त  होती है।  गुलाबो में लाल गुलाब अधिक प्रसिद्ध है , यह जोड़ो के लिए आकर्षित पाया जाता है।  गुलाब पुरे वर्ष फूल देते है।  गुलाब को कई प्रकार से उपयोग किया जाता है जैसे त्वचा की जलन एवं लालिमा को कम करने मे, घावों को काटने एवं जलाने के लिए उपयोग किया जाता है, क्योकि इसमें एंटीऑक्सिडेंट की मात्रा पायी जाती है।

बोगनविलिया – Bougainvillea

बोगनविलिया एक महान उष्णकटिबंधीय पौधा है , और एक महान पर्वतरोही पौधे रूप में भी जाना जाता है। बोगनविलिया एक सदाबहार पर्वतरोही पौधा है , और इसका उपयोग कई बागो में सजावट के रूप में किया जाता है। इसका चमकीला रंग किसी भी उदास बगीचे को आकर्षित बना सकता है यह पौधे खुली हवा और गर्म शुष्क जलवायु से प्यार करते है।  इनकी मोटी भेदी काँटों के कारण, यह मवेशियों  और पक्षियों से प्रतिरोधक है।

गुड़हल – Hibiscus

यह फूल कई नमो से जाना जाता है स्कूली बच्चे इसे जूते के फूल के नाम से भी जानते है ,हिबिस्कस चमकीले रंग का फूल है ये कई रंगो के पाए जाते है, लाल , सफ़ेद लाल , पीला ,सफ़ेद ,एकहरा, दोहरा ,तिहरा।  यह कई महान औषिधियो में मूल्येवान पाई गयी है। इसका उपयोग आमतौर पर स्कूल में विदारक फूल के रूप सिखने के रूप में किया जाता है। यह फूल एवं इसके पत्ते हमारे बालो के लिए बहुत सहायक है , जैसे रुसी को दूर करना , ठंडा रखना , बाल लम्बे करना इत्यादि। यह फूल कम पानी में सालो- साल  फूल देते है।

इक्सोरा – Ixora (West Indian Jasmine)

Ixora Shrub Plant
Ixora Shrub Plant

इक्सोरा सबसे आम गर्मियों के पौधो में से एक है ,जो किसी भी बगीचे में आम प्रकार से पाए जा सकते है।   यह अपने 500  से अधिक प्रजातियों के नाम के साथ ,गर्मियों एवं कभी – कभी सर्दियों में भी स्वतन्त्र रूप से खिलते है।  वास्तव में , सर्दियों के दौरान इसकी भिन्नता इक्सोरा क्योकिनी से की जाती है।  यह पौधे जयदा तर लाल , पिले और चमकीले नारंगी  रंग में पाए जाते है ,इन पौधो की वृद्धि और रखरखाव भी बहुत सरल है ,जो उन्हें कई बागवान के बीच पसंदीदा बनता है।

तानतानी – Lantanas

लैंटाना एक व्यापक रूप से एक जीवंत फूल है ,जोकि बेल के समान दिखता है।  वास्तव में इसे झाड़ी के रूप में वर्गीकृत किया गया है। ये कई रंगो में पाए जाते है ,जिनमे पीले, नारंगी , सफ़ेद , लाल , और ऐसे कई रंगो के समहू पाए जाते है।  इन रंगो को बीकोल युक्त प्रभाव बनांने के लिए मिश्रित किया जा सकता है।  जो केवल बगीचे को सूंदर बनाने में सहायक है।  इन्हे लगाना बहुत ही आसान

एडिनियम – Adenium

एडेनियम को स्थानीय वनस्पतिविदों और बागवानों में रेगिस्तानी पौधो के रूप में जाना जाता है/ ज्यादातर बोन्साई पौधे के रूप में उपयोग किया जाता है।  यह पौधे थोड़े चमकीले और आँखों के रंग के एवं लाल रंग के पाए जाते है , जिनकी तुलना कुछ फूलो से की जा सकती है।

इन पौधो के बारे में एक बात ध्यान देने योग्य है , एडेनियम में कीड़े से होने वाले हमलो का खतरा अधिक होता है और इसी लिए पौधे के तने को काटने के बाद पौधो में फूफंदनाशक लगाने का अच्छा  अभ्यास हो जाता है। यह गर्मी एवं वसंत दोनों में ही खिलता है इसे रेगिस्तानी गुलाब भी का जाता है

मिल्ली – Crown-of-Thorns

मिल्ली को दुनिया भर में क्राइस्ट प्लांट या क्राइस्ट कांट के नाम से जाना जाता है।  यह मेडागास्कर का मूल निवासी है , हालाँकि , कई वनस्पति विज्ञानियों ने  भारत को एक उपयुक्त स्थान बताया है , नतीजे के अनुसार देश भर के कई  जगह मिल्ली उगाई जाती है ,  जहां अच्छी नमी वाली मिट्टी के साथ जलवायु प्राप्त होती है।  इस पौधे के फूल बहुत छोटे होते,मिली के पौधे का रख रखाव  मुश्किल नहीं होता है .

कलानंचो – Kalanchoe

कलानंचो में लाल , पीले, गुलाबी , नारंगी , और सफ़ेद रंग के बहुत उज्जवल एवं कुरकुरा रंग होता है, और हमेशा बगीचों को रंगीन फूलो के छोटे – छोटे गुलदस्ते देने के लिए गुच्छे के रूप में खिलते है।  यह पौधे की ऊंचाई 12  इंच तक बढ़ती है , और बहुत काम रख रखाव की आवश्यकता पड़ती है , बस एक अछि तरह से सूखा पॉटिंग मिश्रण और बहुत सारे प्रकाश के साथ यह पौधा खिल जाता है।

क्रोसैंड्रा – Crossandra

क्रॉसेंड्रा एक बहुत प्रसिद्ध फूल है , जिसे अबोली के नाम से भी जाना जाता है ,भारत में कई क्षेत्रो में खेती की जाती है। अधिकांश खेती  व्यवसायी उद्देश्ये के लिए की जाती है, हालाँकि , इसे अपने बगीचे शीन जोड़ने के लिए भी लगाया  जा सकता है। इस पौधे को पटाखे के पौधे के रूप में भी जाना जाता है, क्यों की इसका रंग चमकीला है।  इन्हे कई अलग -अलग अवसरों के लिए सजावटी पौधे के रूप में भी उपयोग किया जाता है, जिन्हे  अक्सर गहरे और सुगंधित प्रभाव देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

रातरानी – Night Jasmine 

हम रातरानी के इस फूल के बारे में बात करना बंद नहीं कर सकते ,क्योकि इन पौधे में सफ़ेद चमकदार पंखुडिया और एक मिटटी महक वाली खुशबू है  जो की किसी भी व्यक्ति के दिल को पिघलने के लिए पर्याप्त है।  इसे भारत में हरसिंगार या पारिजात के नाम से भी जाना जाता है रात चमेली एक सच्च की चमेली का फूल नहीं है, यह फूल टमाटर और मिर्ची के फूल के जैसे ही दिखते है।  इसकी उत्कृष्ट प्रस्फुटन विशेषताएं , इसे गोपनीयता हेजेज और स्क्रीन के लिए एक दम ठीक है।

टागर – Crepe Jasmine

जैस्मीन को पिनव्हील  फूल भी कहा जाता है।  यह रक सदाबहार झाड़ी है , जो भारत की मूल निवासी है और अब पुरे दक्षिण पूर्व एशिया में व्यापक है।  इस फूल के परिवार का नाम अपॉइनसै  है।  यह फूल सभी आयुर्वेदिक उत्पादों में इस्तेमाल किया जाता है , इन पोधो को एंटीऑक्सिडेंट, एनाल्जेसिक  और एंटी – ट्यूमर  के रूप में किया जाता है।  अंगूर जैस्मीन को भी कुचल के आँखों के ड्राप के रूप में उपयोग किया जाता है।

ऑरेंज ट्रम्प क्रीपर – Pyrostegia Venusta

ये तेजी से बढने वाले बारमहसी पौधे है।  इस पौधे के लिए एक अच्छी मिटटी पसंद की जाती है।  यह अफ्रीका का मूल निवासी है , और 8 फ़ीट तक बढ़ सकती है। फूल व्यास में लगभग 2  से 8  सेमी बढ़ सकता है। इन पौधों के प्रत्येक फूल के आधार पर अतिरिक्त अमृत भी होता है।

टियोबोचिना – Tibouchina

यह फूल 15 फ़ीट तक बढ़ते है , इन्हे राजकुमारी फूल या बेगमबहार के नाम से भी जाना जाता है यह फूल सबसे अधिक बैंगनी  रंग के होते है , और ज्वलंत देश में पाए जाते है।  यह पौधे लगभग 3  मीटर व्यास के होते है और रात के समय यह फ्लोरोसेंट होते है।

बेदिना – Mussaenda Acuminta

यह फूल रुबिया के परिवार से है।  यह फूल विभिन प्रकार के रंगो में पाया  जाता है , और मुख्य रूप से बगीचे का आकर्षण बनता है।  यह एशियाई और अफ्रीका उष्णकटिबंधीय के मूल निवासी है।  यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सजावटी झाड़ी है जो बगीचे के लिए बहुत सूंदर है , इस पौधे के पत्ते लगभग 7 .5  -12 .5  सेमी लम्बे होते है। इन पौधे का उपयोग कुष्ठ और पीलिया के इलाज में भी किया जाता है , और अस्थमा , अल्सर और एडिमा  से पीड़ित रोगियों का भी इलाज किया जाता है। 

Author – Varsha